HBSE 7th Class Social Science Solutions Geography Chapter 5 जल

Haryana State Board HBSE 7th Class Social Science Solutions Geography Chapter 5 जल Textbook Exercise Questions and Answers.

Haryana Board 7th Class Social Science Solutions Geography Chapter 5 जल

HBSE 7th Class Geography जल Textbook Questions and Answers

प्रश्न 1.
निम्न प्रश्नों के उत्तर दीजिए:
(क) वर्षण क्या है?
उत्तर:
वाष्पित जल संघनित होकर धरती पर वर्षा, हिम अथवा ओला वृष्टि के रूप में आता है। इसे वर्षण कहते हैं।

(ख) जल चक्र क्या है?
उत्तर:
जिस प्रक्रम में जल लगातार अपने स्वरूप को बदलता रहता है और महासागरों, वायुमंडल एवं धरती के बीच चक्कर लगाता रहता है, उसको जलचक्र कहते हैं।

(ग) लहरों की ऊँचाई प्रभावित करने वाले कारक कौन-से हैं?
उत्तर:
लहरों की ऊँचाई को प्रभावित करने वाला प्रमुख कारक पवनों की गति ही है।

HBSE 7th Class Social Science Solutions Geography Chapter 5 जल

(घ) महासागरीय जल की गति को प्रभावित करने वाले कारक कौन-से हैं?
उत्तर:
महासागरीय जल की गति को प्रभावित करने वाले कारक निम्नलिखित हैं:
1. तापमान (Temperature) : महासागरीय जल तापमान की विभिन्नता के कारण गति करता है। कम तापमान वाले क्षेत्र से अधिक तापमान वाले क्षेत्र को गति करता है।

2. लवणता (Salinity) : समुद्र में पाई जाने वाली लवणता भी गति का कारण है। लवणता के कारण जल घनत्व में अंतर आता है। अधिक घनत्व वाले क्षेत्र से कम घनत्व वाले जल क्षेत्र की ओर जल गति करता है। .

3. पृथ्वी की दैनिक गति (Rotation of the Earth) : पृथ्वी के अपने अक्ष पर घूमने के कारण भी जल गति करता है। पवनें (Prevailing Winds) : पवनों के कारण भी जल गति करता है।

(च) ज्वारभाटा क्या हैं तथा ये कैसे उत्पन्न होते हैं?
उत्तर:
समुद्र का जल स्तर एक निश्चित समय पर प्रतिदिन दो बार उठता है। समुद्री जल के बारी-बारी से ऊपर उठने और नीचे उतरने की इस घटना को क्रमश: ज्वार और भाटा कहते हैं। सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी की पारस्परिक गुरुत्वाकर्षण क्रिया ही ज्वारभाटा की उत्पत्ति का कारण है। ज्वार प्रतिदिन दो बार उठते हैं। दो ज्वारों के बीच का समय 12 घटे,25 मिनट है। ज्वार दो प्रकार के होते हैं-उच्च ज्वार और निम्न ज्वार।

उच्च ज्वार (Spring Tide) : पूर्णिमा और अमावस्या के दिन चंद्रमा, सूर्य और पृथ्वी तीनों एक सीध में होते हैं। वे दोनों एक ही कोण से पृथ्वी को आकर्षित करते हैं, जिससे उच्च ज्वार बन जाता है।

निम्न ज्वार (Neap Tide) : शुक्ल पक्ष की अष्टमी के दिन सूर्य और चंद्रमा पृथ्वी के केंद्र पर समकोण बनाते हैं। उनके आकर्षण एक-दूसरे को संतुलित करने के प्रयास में निष्क्रिय बना देते हैं जिससे पृथ्वी पर उनके बल का प्रभाव कम हो जाता है। इन दिनों बहुत कम ऊंचाई वाले ज्वार का निर्माण होता है। इन्हें निम्न ज्वार कहते हैं।

(छ) महासागरीय धाराएँ क्या हैं?
उत्तर:
महासागरीय जल की बड़ी धाराएँ जो नियमित और एक निश्चित दिशा में निरंतर बहती हैं महासागरीय धाराएँ कहलाती हैं।

HBSE 7th Class Social Science Solutions Geography Chapter 5 जल

प्रश्न 2.
कारण बताइए:
(क) समुद्री जल नमकीन होता है।
उत्तर:

  • महासागरीय जल की लवणता का कारण नदियों द्वारा महासागरों में विभिन्न प्रकार के लवणों को एकत्र करना है।
  • वाष्पीकरण की मात्रा भी लवणता का कारण है।
  • ताजे जल का समुद्र में मिलना लवणता की मात्रा निर्धारित करता है। जिन महासागरों में ताजा जल अधिक होता है वहाँ लवणता कम होती है।

(ख) जल की गुणवत्ता का ह्रास हो रहा है।
उत्तर:
जल के उपयोग में लापरवाही के कारण जल की गुणवत्ता में हास हो रहा है। कारखानों का दूषित जल भी नदियों के जल को दूषित करता है। नगरीय सीवर के दूषित जल का नदियों में मिलना नदी जल को दूषित करता है। इन कारणों से जल की गुणवत्ता का ह्रास हो रहा है।

प्रश्न 3.
सही उत्तर चिह्नित (√) कीजिए :
(क) वह प्रक्रम जिसमें जल लगातार अपने स्वरूप को बदलता रहता है और महासागर, वायुमंडल एवं स्थल के बीच चक्कर लगाता रहता है:
(i) जल चक्र
(ii) ज्वार-भाटा
(iii) महासागरीय धाराएँ
उत्तर:
(i) जल चक्र।

(ख) सामान्यतः गर्म महासागरीय धाराएँ उत्पन्न होती हैं:
(i) ध्रुवों के निकट
(ii) भूमध्य रेखा के निकट
(iii) दोनों में से कोई नहीं
उत्तर:
(ii) भूमध्य रेखा के निकट।

(ग) दिन में दो बार नियम से महासागरीय जल या उठना एवं गिरना कहलाता है।
(i) ज्वार-भाटा
(ii) महासागरीय धाराएँ।
(iii) तरंगें
उत्तर:
(i) ज्वार-भाटा।

प्रश्न 4.
निम्नलिखित स्तंभों को मिलाकर सही जोड़े बनाइए

(क) कैस्पियन सागर (i) तीव्र भूकंपी तरंगें
(ख) ज्वार-भाटा (i) निश्चित मार्ग में प्रवाहित होने वाली धाराएँ
(ग) सुनामी (iii) जल में आवधिक चढ़ाव एवं उतार
(घ) महासागरीय धाराएँ (iv) विशालतम झील

उत्तर:
(क) (iv)
(ख) (iii)
(ग) (i)
(घ) (ii)

HBSE 7th Class Social Science Solutions Geography Chapter 5 जल

प्रश्न 5.
आओं खेलें
जासूस बनिए
(i) निम्नलिखित अंग्रेज़ी के प्रत्येक वाक्य में एक नदी का नाम ढूँढें :
Example:
Mandira, Vijayalakshmi and Surinder are my best friends.
Answer:
Ravi
(a) The snake charmer’s bustee, stables where horses are housed and the piles of wood, all caught fire accidentally. (Hint: Another name for River Brahmputra)

(b) The conference manager put pad, material for reading and a pencil for each participant. (Hint: A distributary on the Ganga-Brahmputra delta)

(c) Either jealousy or anger cause a person’s fall (Hint: Name of a juicy fruit!)

(d) Bhavani germinated the seeds in a pot (Hint: Look for her in West Africa)

(e) “I am a zonal champion now” declared the excited atheletic. (Hint: The river that has the biggest basin in the world)

(f) The tiffin box rolled down and all the food fell industy pot holes. (Hint: Rises in India and journey through Pakistan)

(g) Malini leaned against the pole when she felt that she was going to faint. (Hint: Her delta in Egypt is famous)

(h) Samantha mesmerised everybody with her magic tricks. (Hint: London is situated on her estuary)

(i) “In this neighbourhood, please don’t yell ! Owners of these houses like to have peace”. Warned my father when we moved into our new flat”. (Hint: colour!)

(j) ‘Write the following words, Marc!'”On”, “go”, “in”…….. said the teacher to the little boy in KG Class. (Hint: Rhymes with ‘bongo)
Now make some more on your own and ask your classmates to spot the hidden name. You can do this with any name: that of a lake, mountains, trees, fruits, school items etc.

जासूसी करते रहिए

(ii) एटलस की सहायता से, 5(i) में खोजी गई सभी नदियों को विश्व के रूपरेखा मानचित्र में बनाइए।
संकेत:
(क) तीस्ता
(ख) पदमा
(ग) ओरेंज
(घ) नाइजर
(ङ) अमेजन
(च) इंडस (सिंधु)
(छ) नील
(ज) टेम्स
(झ) यलो (पीली नदी)
(ब) कांगो।

बहुविकल्पी प्रश्न

प्रश्न 1.
रिक्त स्थान भरें:
1. सभी जलराशियाँ जैसे झील, नदी, तालाब, समुद्र आदि को ……………. कहते हैं।
2 गल्फ स्ट्रीम एक ……………. धारा है।
3. ……………. आर्कटिक महासागर और अटलांटिक महासागर को जोड़ता है।
4. सबसे अधिक लवणता सागर ……………. में है।
5. पृथ्वी का ……………. जल से ढका है।
6. ……………. सभी जलराशियों का सामूहिक नाम है।
7. जन राशियों हमें खाद्य के रूप में ……………. आदि प्रदान करती हैं।
8. जल की न समाप्त होने वाली गति को ……………. कहते हैं।
9. आज भी जल की मात्रा उतनी ही है जितनी में थी।
10. पवनों के धक्का देने से .खुले समुद्रों में बनती है।
11. …………….. महासागरीय जल की गति है और महासागरीय तल पर धारा का रूप ले लेती है।
12. ……………. महासागरीय धाराओं की दिशा में परिवर्तन लाती है।
13. समुद्री जल का एक नियमित अंतराल पर गिरना तथा उठना ……………. कहलाता है।
उत्तर:
1. जलमंडल
2. गर्म
3. बेरिंग जलडमरूमध्य
4. मृत सागर
5. 71%
6. जलमंडल
7. मछली
8. जलचक्र
9. हिम युग
10. तरंग
11. धारा
12. पवनें
13. ज्वार।

HBSE 7th Class Social Science Solutions Geography Chapter 5 जल

प्रश्न 2.
बताइए कि निम्न कथन सत्य हैं अथवा असत्य:
1. अंटार्कटिक के समीप की विशाल जलराशि को उत्तरी सागर भी कहते हैं।
2. वाष्पीकरण के द्वारा महासागरों से बड़ी मात्रा में जलवाष्प बनती है।
3. आर्कटिक महासागर की सीमा भारत-पाकिस्तान-रूस और उत्तरी अमेरिका बनाते हैं।
4. सबसे गहरा गर्त मरियाना अटलांटिक सागर में है।
5. अटलांटिक महासागर में कई गर्त और बेसिन हैं।
6. समुद्री धाराएँ सदैव गतिमान रहती हैं।
7. फैरल के नियम के अनुसार महासागरीय धाराएँ उत्तरी गोलार्द्ध में अपने दाईं ओर तथा दक्षिणी गोलार्द्ध में अपने बाई ओर मुड़ जाती है।
8. महासागरीय धाराएँ गर्म तथा ठंडी दो प्रकार की होती हैं।
9. ज्वार की चरम स्थितियाँ उच्च ज्वार तथा निम्न ज्वार हैं।
10. कनाडा, यू.के., फ्रांस तथा जापान में ज्वारीय शक्ति केंद्र स्थापित किए गए हैं।
उत्तर:
1. असत्य
2. सत्य
3. असत्य
4. असत्य
5. सत्य
6. असत्य
7. सत्य
8. सत्य
9. सत्य
10. सत्य।

प्रश्न 3.
सही उत्तर चुनें :
1. वाष्पीकरण की प्रक्रिया के द्वारा बड़ी मात्रा में जलवाष्प बनती है :
(क) झीलों में
(ख) नदियों में
(ग) महासागरों में
(घ) ओले के रूप में
उत्तर:
(क) महासागरों में।

2. सबसे अधिक द्वीप पाए जाते हैं:
(क) आर्कटिक महासागर में
(ख) प्रशांत महासागर में
(ग) हिंद महासागर में
(घ) अटलांटिक महासागर में
उत्तर:
(क) आर्कटिक महासागर में।

3. मध्य अटलांटिक कटक अटलांटिक में फैला है:
(क) उत्तर से दक्षिण
(ख) दक्षिण से उत्तर
(ग) पश्चिम से पूर्व
(घ) पूर्व से पश्चिम
उत्तर:
(क) उत्तर से दक्षिण।

4. कौन सा महासागर एक देश के नाम पर है?
(क) प्रशांत महासागर
(ख) अटलांटिक महासागर
(ग) हिंद महासागर
(घ) आर्कटिक महासागर
उत्तर:
(ग) हिंद महासागर।

5. तरंग का आकार और आकृति निर्भर करती है:
(क) पवन की गति पर
(ख) चंद्रमा की आकर्षण शक्ति पर
(ग) सूर्य की आकर्षण शक्ति पर
(घ) कोई नहीं
उत्तर:
(क) पवन की गति पर।

6. सुनामी का सामान्य कारण है:
(क) भूस्खलन
(ख) चक्रवात
(ग) धाराएँ
(घ) भूकंप
उत्तर:
(घ) भूकंप।

HBSE 7th Class Social Science Solutions Geography Chapter 5 जल

7. समुद्र जल का ऊपर उठना कहलाता है:
(क) दीर्घ ज्वार
(ख) लघु ज्वार
(ग) निम्न ज्वार
(घ) उच्च ज्वार
उत्तर:
(घ) उच्च ज्वार।

8. प्राय: चार दिन में कितनी बार आता है?
(क) एक बार
(ख) तीन बार
(ग) दो बार
(घ) पाँच बार
उत्तर:
(ग) दो बार।

HBSE 7th Class Geography जल Important Questions and Answers

अति लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
वायुमंडल में जल का एक उपयोग बताएँ।
उत्तर:
वायुमंडल में जल एक कूलिंग एजेंट शीतलक के रूप में कार्य करता है।

प्रश्न 2.
जलमंडल क्या है?
उत्तर:
पृथ्वी की सतह पर 71% भाग जल से ढका है। सभी जलराशियों जैसे महासागर, नदियाँ, झीलें, हिम आदि को जलमंडल कहते हैं।

प्रश्न 3.
जल अपने आप एक चक्र कैसे बनाता है?
उत्तर:
जल धरातल से वायुमंडल की ओर तथा वायुमंडल से धरातल की ओर गति करता है। इस प्रकार वह संघनन और वाष्पीकरण की प्रक्रिया द्वारा भिन्न-भिन्न रूप लेता है। यह धरातल पर वर्षा के रूप में आता है तथा नदियों में बहकर महासागरों में पहुंचता है। इसे जलचक्र कहते हैं।

प्रश्न 4.
हिंद महासागर कहाँ स्थित है?
उत्तर:
हिंद महासागर भारतीय उपमहाद्वीप के दक्षिण में – स्थित है।

प्रश्न 5.
मृत सागर में अधिक लवणता क्यों पाई जाती है?
उत्तर:
मृत सागर में अधिक लवणता पाई जाती है। यह 1000 ग्राम जल में 240 ग्राम पाई जाती है। इसका कारण यह समुद्र चारों ओर से भू-भाग से घिरा हुआ है।

प्रश्न 6.
महासागरों की प्रमुख गतियाँ कौन-सी हैं?
उत्तर:
महासागरों की प्रमुख गतियाँ तरंगें, ज्वारभाटा व धाराएँ हैं।

HBSE 7th Class Social Science Solutions Geography Chapter 5 जल

लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
सुनामी पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखो।
उत्तर:
सुनामी एक जापानी भाषा का शब्द है जिसका अर्थ है-पोताश्रय तरंगें। भूकंप, ज्वालामुखी उद्गार या जल के नीचे भूस्खलन के कारण महासागरीय जल में हलचल होती है जिससे समुद्र में विशाल तरंगें उठती हैं जिन्हें सुनामी कहते हैं। ये तरंगें अत्यधिक विनाश करती हैं। ये 700 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक की गति से चलती हैं। 2004 की सुनामी से अंडमान-निकोबार द्वीपसमूह में इंदिरा प्वांइट बिल्कुल डूब गया था।

प्रश्न 2.
महासागरों का महत्त्व बताएँ।
उत्तर:

  1. महासागर जल के बड़े स्रोत हैं।
  2. इनका तापमान पर सीधा प्रभाव पड़ता है।
  3. महासागर वायुमंडलीय आईता और वृष्टि का प्रमुख स्रोत हैं।
  4. महासागर खनिजों के भंडार हैं।
  5. ये व्यापार के लिए स्थायी व निःशुल्क मार्ग प्रदान करते हैं।
  6. वे खाद्य पदार्थों के प्रमुख स्रोत हैं।
  7. महासागर प्राकृतिक रूप से महाद्वीपों को जोड़ते हैं।

प्रश्न 3.
महासागरीय तापमान एक स्थान से दूसरे स्थान पर भिन्न क्यों होता है ?
उत्तर:
महासागरीय तापमान एक स्थान से दूसरे स्थान पर भिन्न होता है। इस पर निम्न कारकों का प्रभाव पड़ता है:

  1. अक्षांश (Latitude) : भूमध्य रेखा के समीप तापमान अधिक होता है। भूमध्य रेखा से ध्रुवों की ओर जल का तापमान कम होता जाता है।
  2. स्थल भाग का विस्तार (Extension of oceans): उत्तरी गोलार्द्ध में स्थल भाग के अधिक विस्तार के कारण दक्षिणी गोलार्द्ध की अपेक्षा औसत तापमान अधिक होता है।
  3. महासागरीय धाराएँ (Ocean currents) : जिन महासागरों में गर्म धाराएँ पाई जाती हैं वहाँ तापमान अधिक पाया जाता है।
  4. प्रचलित पवनें (Prevailing winds) : पवनें अपने साथ समुद्र तल के जल को बहा ले जाती हैं। इसकी पूर्ति के लिए समुद्र के निचले भाग से ठंडा जल ऊपर आ जाता है। इस प्रकार जिस ओर से वायु चलती है वहाँ का समुद्र तल का तापमान कम तथा जिस ओर को वायु चलती है वहाँ पर तापमान अधिक हो जाता है।

प्रश्न 4.
महासागरीय धाराएँ कैसे विकसित होती हैं?
उत्तर:
महासागरीय धाराओं के विकसित होने के निम्न कारण हैं
1. प्रचलित पवनें (Prevailing Winds) : ये पवनें एक निश्चित दिशा में चलती हैं। ये अपने साथ महासागरीय जल को भी बहा कर ले जाती हैं जिससे धाराएँ उत्पन्न हो जाती हैं।

2. तापमान (Temperature) : तापमान की भिन्नता के कारण भी महासागरीय जल में धाराएँ बन जाती हैं। भूमध्य रेखीय तथा ध्रुवीय क्षेत्रों के तापमान में अंतर जल धाराओं का कारण बन जाता है। भूमध्य रेखीय गर्म जल ध्रुवों की ओर प्रवाहित होता है। इसी प्रकार ध्रुवीय ठंडा जल भूमध्य रेखा की ओर प्रवाहित होता है।

3. लवणता (Salinity) : महासागरीय लवणता भी तापमान को प्रभावित करता है। लवणीय जल का तापमान अधिक होता है। इसलिए खारे जल की मात्रा समुद्र जल की गति को प्रभावित करती है।

4. वाष्पीकरण (Evaporation) : दो समीपवर्ती समुद्रों में असमान वाष्पीकरण दोनों समुद्रों की स्थानीय धाराओं का कारण बन जाता है, जिसके कारण धाराएँ उत्पन्न हो जाती हैं।

दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
महासागरीय तापमान पर एक टिप्पणी लिखें।
उत्तर:
महासागरीय जल का तापमान सभी स्थानों पर समान नहीं होता। भूमध्य रेखा के समीप जल सबसे गर्म रहता है। तापमान धुवा का और कम होता जाता है। भूमध्य रेखा के समीप वार्षिक औसत तापमान 26° से. होता है। 20°. 40° और 60° अक्षांशों पर तापमान क्रमश: 23°, 14° और 1° से. होता है। अटलांटिक महासागर का वार्षिक औसत तापमान प्रशांत महासागर की अपेक्षा अधिक होता है क्योंकि इनके आकार में भिन्नता है।

उच्च कटिबंधीय क्षेत्र से घिरे समुद्र में उच्च तापमान पाया जाता है। गहराई बढ़ने पर तापमान घटने लगता है। जितना अधिक खारापन होगा उतना ही अधिक महासागरीय तापमान होगा।

HBSE 7th Class Social Science Solutions Geography Chapter 5 जल

प्रश्न 2.
महासागरीय जल की लवणता के वितरण में किन कारणों से अंतर पाया जाता है?
उत्तर:
महासागरीय जल की लवणता के वितरण में अंतर लाने वाले कारक निम्नलिखित हैं –

  1. खुले महासागरों में लवणता के वितरण में अपेक्षाकृत कम असमानता होती है।
  2. स्वच्छ आकाश के नीचे वाष्पीकरण के कारण उष्ण क्षेत्र में सबसे अधिक लवणता मिलती है।
  3. भारी वर्षा के कारण भूमध्य रेखा की ओर लवणता कम होती जाती है।
  4. चारों ओर से या अंशत: स्थल से घिरे समुद्रों में लवणता में काफी अंतर होता है।
  5. स्थलीय समुद्रों या झीलों में लवणता की मात्रा अधिक होती है। मृत सागर के 1000 ग्राम जल में 240 ग्राम लवण पाया जाता है।
  6. ध्रुवीय क्षेत्रों में लवणता कम होती है क्योंकि वहाँ वाष्पीकरण कम होता है।
  7. समय के बढ़ने के साथ महासागरों में अधिक लवणता बढ़ती जाती है। क्योंकि नदियाँ निरंतर समुद्र में लवण जमा करती रहती हैं।

जल Class 7 HBSE Notes in Hindi

1. जलचक्र (The Hydrological Cycle) : जल की गति धरातल से वायुमंडल की ओर तथा वायुमंडल से धरातल की ओर निरंतर चलती रहती है। जल लगातार गतिमान रहता है और संघनन तथा वाष्पीकरण की प्रक्रिया द्वारा भिन्न-भिन्न रूप लेता है। इस समाप्त न होने वाली गति को जलचक्र कहते हैं।
HBSE 7th Class Social Science Solutions Geography Chapter 5 जल 1

2. महासागर (Oceans) : महासागर जल के बड़े स्रोत हैं। आर्कटिक महासागर, प्रशांत महासागर, अटलांटिक महासागर तथा हिंद महासागर चार प्रमुख महासागर हैं।

3. महासागरों का महत्त्व (Importance of the Oceans): मनुष्य के लिए महासागरों का योगदान निम्नलिखित है:

  • इनका तापमान पर सीधा प्रभाव पड़ता है। महासागर की निकटता तापमान को नियंत्रित करने का प्रमुख कारक है।
  • महासागर वायुमंडलीय आर्द्रता और वृर्षण का प्रमुख स्रोत
  • महासागर खनिज तथा रसायनों को भंडार हैं।
  • व्यापार के लिए स्थायी व नि:शुल्क मार्ग प्रदान करते हैं।
  • ये समुद्री खाद्य पदार्थों के प्रमुख स्रोत हैं।
  • ये ज्वारभाटे के रूप में ऊर्जा के महत्त्वपूर्ण होता है।
  • जल का शुद्धीकरण करने पर पीने के पानी की समस्या हल हो सकती है।
  • महासागरों से हमें नमक की आपूर्ति होती है।

4. तरंगें (Waves) : पवनें दाब द्वारा जल को ऊपर या नीचे की ओर धकेलती हैं। इस प्रकार हम जल की सतह को ऊपर उठते तथा नीचे गिरते देखते हैं। इस प्रक्रिया को तरंग कहते हैं। तरंग महासागरीय सतह की दोलायमान गति है। इसमें जलस्तर नीचा या ऊंचा होता रहता है किंतु अपने स्थान पर रहता है। पवनों की शक्ति के अनुसार तरंगें आकार और ऊंचाई में भिन्न होती हैं। तरंग के दो भाग होते हैं। एक ऊपर उठा हुआ होता है जिसे शीर्ष या शृंग (Crust) कहते हैं। दूसरा नीचे फंसा हुआ होता है जिसे द्रोणी (Trough) कहते हैं।

5. महासागरीय धाराएँ (The Ocean Currents) : महासागरों के एक भाग से दूसरे भाग की ओर विशेष दिशा में जल के प्रवाह को महासागरीय धारा कहते हैं। इनको महासागरीय नदियाँ भी कहते हैं। महासगरीय धाराएँ ठंडी या गर्म हो सकती है।

HBSE 7th Class Social Science Solutions Geography Chapter 5 जल

6. महासागरीय धाराओं के उत्पन्न होने के कारण (Causes of the Origin of Ocean Currents) : इसके प्रमुख कारण निम्नलिखित हैं() प्रचलित पवनें (Prevailing Winds) : धाराओं का उत्पन्न होने का सबसे बड़ा कारण प्रचलित पवनें हैं।
(i) प्रचलित पवनें सदा एक ही दिशा में चलती हैं। इनके साथ ही महासागरीय जल आगे निकलता रहता है और धाराएँ बन जाती हैं।

(ii) तापमान में भिन्नता (Variation in Temperatures) : तापमान में भिन्नता भी धाराओं के बनने का कारण है। गर्म जल हल्का होकर फैलता है। ठंडा जल भारी होता है और नीचे बैठ जाता है। तापमान में भिन्नता के कारण सागरीय जल के तल में अंतर आ जाता है और महासागरीय धाराओं का जन्म होता है। इसलिए भूमध्यरेखीय तथा ध्रुवीय क्षेत्रों के महासागरों के जल के तापमान में अंतर होने के कारण उत्तर-दक्षिण दिशा में धाराएँ चलती हैं।

(iii) लवणता में अंतर (Variation in Salinity) : महासागरीय धाराओं को जल की लवणता भी प्रभावित करती है। लवणीय जल का तापमान अधिक होता है। इसलिए खारे जल की मात्रा समुद्र जल की गति को प्रभावित करती है।

(iv) वाष्पीकरण (Evaporation) : दो समीपवती समुद्रा से असमान वाष्पीकरण दोनों समुद्रों की स्थानीय धाराओं का कारण बन जाता है जिसके कारण दोनों समुद्र सतहों में अंतर हो जाता है।

7. ज्वार (Tides) : ज्वार एक नियमित अंतराल पर होने वाली प्रक्रिया है जिसमें समुद्र के जल का ऊंचा उठना और नीचे गिरना शामिल है। उच्च ज्वार तथा निम्न ज्वार समुद्र के जल के ऊपर उठने तथा नीचे गिरने को कहते हैं। केवल तट के समीप ही ज्वार दिखाई देते हैं. खुले समुद्रों में नहीं।

8. ज्वार की उत्पत्ति (Origin of the Tides) : ज्वार की उत्पत्ति चंद्रमा और सूर्य की आकर्षण शक्ति के कारण होती है क्योंकि ये पृथ्वी के समीप है। ज्वार दिन में दो बार आता है लेकिन दोनों ज्वार में अंतर 12 घंटे, 25 मिनट का होता है। ज्वार दो प्रकार का होता है – उच्च ज्वार और लघु ज्वार। पूर्णमासी तथा अमावस्या को सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी एक ही सीध में होते हैं। सूर्य और चंद्रमा की संयुक्त गुरुत्वाकर्षण शक्ति का प्रभाव समुद्र जल पर पड़ता है इसलिए ज्वार सबसे ऊंचा होता है। इसे उच्च ज्वार या बृहत ज्वार (Spring Tide) कहते हैं। अर्धचंद्रमा के दिन पृथ्वी के केंद्र से चंद्रमा और सूर्य समकोण बनाते हैं। इसलिए सूर्य और चंद्रमा की गुरुत्वाकर्षण शक्ति एक-दूसरे को अपनी ओर खींचती है। इससे समुद्र का जल कुछ ही कम ऊंचा उठता है। इसे निम्न या लघु ज्वार (Neep Tides) कहते हैं।

9. सुनामी (Tsunami) : सुनामी का शाब्दिक अर्थ है बंदरगाह की तरंगे। सुनामी भूकंप के कारण उत्पन्न होती है जो समुद्र के पार चली जाती है। सुनामी समुद्र की सतह पर दिखाई नहीं देती। उन स्थानों पर कुछ फीट ऊँची हो सकती है, लेकिन दूसरे स्थानों पर उनकी ऊंचाई 100 फीट तक हो जाती है। सुनामी जल तरंगों की एक श्रृंखला है। इसे वेब ट्रेन कहा जा सकता है। ये 500 मील/घंटा की गति से दौड़ती हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.