HBSE 7th Class Science Solutions Chapter 7 मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल

Haryana State Board HBSE 7th Class Science Solutions Chapter 7 मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल Textbook Exercise Questions and Answers.

Haryana Board 7th Class Science Solutions Chapter 7 मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल

HBSE 7th Class Science मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल InText Questions and Answers

बूझो/पहेली

प्रश्न 1.
बूझो जानना चाहता है कि मौसम की रिपोर्ट कौन तैयार करता है?
उत्तर:
मौसम की रिपोर्ट मौसम विभाग तैयार करता

प्रश्न 2.
बूझो जानना चाहता है कि मौसम इतनी तेजी से क्यों बदलता है?
उत्तर:
पृथ्वी के सूर्य के परितः तथा अपनी अक्ष के परितः घूर्णन के कारण मौसम इतनी तेजी से बदलता है।

प्रश्न 3.
पहेली जानना चाहती है कि आखिर मौसम का स्रोत क्या है?
उत्तर:
मौसम के सभी परिवर्तनों का स्रोत सूर्य होता है।

प्रश्न 4.
पहेली जानना चाहती है कि क्या मछलियाँ और तितलियाँ भी पक्षियों की तरह प्रवास करती हैं?
उत्तर:
हाँ।

HBSE 7th Class Science Solutions Chapter 7 मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल

HBSE 7th Class Science मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल Textbook Questions and Answers

प्रश्न 1.
उन घटकों के नाम बताइए जो किसी स्थान के मौसम को निर्धारित करते हैं ?
उत्तर:
वर्षा, तापमान, आर्द्रता।

प्रश्न 2.
दिन में किस समय ताप के अधिकतम और न्यूनतम होने की सम्भावना होती है ?
उत्तर:
सामान्यतः दोपहर के समय दिन का तापमान अधिकतम होता है। दिन का न्यूनतम तापमान प्रात:काल होता है।

प्रश्न 3.
रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए
(क) दीर्घ अवधि के मौसम का औसत ……………………. कहलाता है।
(ख) किसी स्थान पर बहुत कम वर्षा होती है और उस स्थान का तापमान वर्ष भर उच्च रहता है, उस स्थान की जलवायु ……………………. और ……………………. होगी।
(ग) चरम जलवायवीय परिस्थितियों वाले पृथ्वी के दो क्षेत्र ……………………. और ……………………. हैं।
उत्तर:
(क) जलवायु
(ख) उष्ण, शुष्क
(ग) ध्रुव, रेगिस्तान।

प्रश्न 4.
निम्नलिखित क्षेत्रों की जलवायु का प्रकार बताइए
(क) जम्मू एवं कश्मीर
(ख) केरल
(ग) राजस्थान
(घ) उत्तर-पूर्व भारत।
उत्तर:
(क) जम्मू एवं कश्मीर – (क) ठंडी और आई।
(ख) केरल – (ख) गर्म और आर्द्र।
(ग) राजस्थान – (ग) गर्म और शुष्क।
(घ) उत्तर-पूर्व भारत – (घ) गर्म और आई।

प्रश्न 5.
मौसम और जलवायु में से किसमें तेजी से परिवर्तन होता है ?
उत्तर:
मौसम में जलवायु की अपेक्षा तेजी से परिवर्तन होता है। जलवायु किसी स्थान की दीर्घ अवधि 25 वर्ष के मौसम के प्राचलों द्वारा निर्धारित होती है।

प्रश्न 6.
जन्तुओं की कुछ विशेषताओं की सूची नीचे दी गई है
(क) आहार मुख्यतः फल हैं
(ख) सफेद बाल/फर
(ग) प्रवास की आवश्यकता
(घ) तीन स्वर-ध्वनि (तेज आवाज)
(च) पैरों के चिपचिपे तलवे
(छ) त्वचा के नीचे वसा की मोटी परत
(ज) चौड़े और बड़े नखर
(झ) चटख रंग
(ट) मजबूत पूँछ
(ठ) लम्बी और बड़ी चोंच
उपरोक्त प्रत्येक विशेषता के लिए यह बताइए कि वह उष्णकटिबन्धीय वर्षा वन अथवा ध्रुवीय क्षेत्र में से किसके लिए अनुकूलित हैं। क्या आप समझते हैं कि इनमें से कुछ विशेषताएँ दोनों क्षेत्रों के लिए अनुकूलित हो सकती हैं ?
उत्तर:
(क) उष्णकटिबन्धीय
(ख) ध्रुवीय
(ग) दोनों
(घ) दोनों
(च) ध्रुवीय
(छ) ध्रुवीय
(ज) ध्रुवीय
(झ) उष्ण कटिबन्धीय
(ट) उष्ण कटिबन्धीय
(ठ) उष्ण कटिबन्धीय।

HBSE 7th Class Science Solutions Chapter 7 मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल

प्रश्न 7.
उष्ण कटिबन्धीय वर्षा वन जन्तुओं की विशाल जनसंख्या को आवास प्रदान करते हैं। समझाइए कि ऐसा क्यों है?
उत्तर:
उष्णकटिबन्धीय वर्षा वन लगातार गर्मी तथा वर्षा के कारण जन्तुओं तथा वनस्पति की विशाल आबादी को आवास प्रदान करते हैं। वहाँ की परिस्थितियाँ जन्तुओं व वनस्पतियों के अनुकूल होती हैं।

प्रश्न 8.
उदाहरण सहित समझाइए कि किसी विशेष जलवायवीय परिस्थिति में कुछ विशिष्ट जन्तु ही जीवन-यापन करते क्यों पाये जाते हैं ?
उत्तर:
किसी विशेष जलवायवीय परिस्थिति में कुछ विशिष्ट जन्तु ही जीवनयापन करते पाये जाते हैं, क्योंकि वे जन्तु उन स्थितियों में जीने के लिए अनुकूलित होते हैं। जन्तुओं में जीने के लिए जलवायु के प्रति अनुकूलन होना अति आवश्यक है।

उदाहरण धुवीय भालू के सम्पूर्ण शरीर पर सफेद बाल (फर) होते हैं जिसके कारण वे बर्फ की सफेद पृष्ठभूमि में आसानी से दिखाई नहीं देते हैं। इस गुण के कारण उन्हें भोजन हेतु शिकार करने में सहायता मिलती है क्योंकि उनके शिकार जन्तु उन्हें आसानी से देख नहीं पाते। फरों की मोटी परत के कारण इन्हें सर्दी में भी अधिक कठिनाई नहीं होती। ये परतें भालू की अत्यधिक सर्दी से रक्षा करती हैं। इन भालुओं की त्वचा के नीचे चर्बी की मोटी परत होती है जो सर्दी को शरीर में प्रवेश नहीं करने देती तथा शरीर की गर्मी को निर्मुक्त नहीं होने देती। ध्रुवीय भालू का शरीर इतनी अच्छी तरह से शीतरोधी होता है कि वे धीमे-धीमे चलते हैं ताकि उनके शरीर का ताप आवश्यकता से अधिक न हो जाये। गर्म मौसम में भौतिक क्रियाकलापों के बाद इन्हें अपने शरीर को ठंडा रखना पड़ता है। अतः ये समुद्री जल में तैर सकते हैं। इनके पंजे चौड़े तथा बड़े होते हैं जिनमें नाखून उपस्थित होते हैं जिससे इनको बर्फ पर चलने में आसानी होती है। इनके सूंघने तथा देखने की क्षमता अच्छी होती है जिसके कारण ये अपना शिकार बर्फ में भी ढूँढ़ लेते हैं।

प्रश्न 9.
उष्ण कटिबन्धीय वर्षा वनों में रहने वाला हाथी किस प्रकार अनुकूलित है?
उत्तर:
उष्णकटिबन्धीय वर्षा वनों में रहने वाले हाथियों ने स्वयं को निम्न प्रकार से अनुकूलित किया है

  1. यह अपनी लम्बी सैंड का प्रयोग एक हथियार के रूप में करते हैं, जो हाथी की नाक होती है।
  2. हाथी अपनी सँड़ का प्रयोग भोजन तोड़ने, पकड़ने एवं उठाने के लिए करता है।
  3. इनके बाहा दाँत रदनक कहलाते हैं जिनका उपयोग करके ये अपनी पसन्द के वृक्षों की छाल को आसानी से छील सकते हैं।
  4. हाथी स्पर्धा के बावजूद भी अपना भोजन आसानी – से जुटाने में समर्थ होते हैं।
  5. हाथी के बड़े कान बहुत हल्की ध्वनि को भी सुनने में सहायक होते हैं। ये कान वर्षा वनों की गर्म और आर्द्र जलवायु में हाथी को ठण्डा करने में भी मदद करते हैं।

HBSE 7th Class Science Solutions Chapter 7 मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल

निम्नलिखित प्रश्नों में सही विकल्प चुनिए

प्रश्न 10.
कोई मांसाहारी जन्तु, जिनके शरीर पर धारियाँ होती हैं, अपने शिकार को पकड़ते समय बहुत तेजी से भागता है। इसके पाये जाने की सम्भावना है किसी
(क) ध्रुवीय क्षेत्र में
(ख) मरुस्थल में
(ग) महासागर में
(घ) उष्णकटिबन्धीय वर्षा वन में।
उत्तर:
(घ) उष्णकटिबन्धीय वर्षा वन में।

प्रश्न 11.
ध्रुवीय भालू को अत्यधिक ठण्डी जलवायु में रहने के लिए कौन-सी विशेषताएँ अनुकूलित करती
(क) श्वेत बाल/फर, त्वचा के नीचे बसा, तीव्र सूंघने की क्षमता।
(ख) पतली त्वचा, बड़े नेत्र, श्वेत फर या बाल।
(ग) लम्बी पूँछ, मजबूत नखर, सफेद बड़े पंजे।
(घ) श्वेत (सफेद) शरीर, तैरने के लिए पंजे, श्वसन के लिए क्लोम (गिल)।
उत्तर:
(क) श्वेत बाल/फर, त्वचा के नीचे वसा, तीव्र सँधने की क्षमता।

प्रश्न 12.
निम्न में से कौन-सा विकल्प उष्णकटिबन्धीय क्षेत्र का सर्वश्रेष्ठ (सबसे अच्छा) वर्णन करता है?
(क) गर्म और आई
(ख) मध्यम तापमान-अत्यधिक वर्षा
(ग) सर्द और आर्द्र
(घ) गर्म और शुष्क।
उत्तर:
(क) गर्म और आर्द्र।

HBSE 7th Class Science मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल Important Questions and Answers

वस्तुनिष्ठ प्रश्न

I. बहुविकल्पीय प्रश्न निम्नलिखित प्रश्नों में से सही विकल्प का चयन कीजिए

1. किसी स्थान का मौसम परिवर्तित होता है
(क) दिन-प्रतिदिन
(ख) सप्ताह दर सप्ताह
(ग) प्रत्येक ऋतु में
(घ) से सभी
उत्तर:
(घ) से सभी

2. उष्ण कटिबन्धीय वर्षा वन पाए जाते हैं
(क) भारत में
(ख) ब्राजील में
(ग) मलेशिया में
(घ) इन सभी में
उत्तर:
(घ) इन सभी में

3. ध्रुवीय पेंग्विन है, एक
(क) स्तनी
(ख) रेंगने वाला जन्तु
(ग) पक्षी
(घ) मछली
उत्तर:
(ग) पक्षी

HBSE 7th Class Science Solutions Chapter 7 मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल

4. हाथी के लम्बे बाहर निकले दाँत होते हैं
(क) रद (रदनक)
(ख) छेदक
(ग) मोलर
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर:
(क) रद (रदनक)

5. निम्न में से कौन-सा वृक्षाश्रयी नहीं है
(क) लाल नेत्र वाला मेढ़क
(ख) पैंग्विन पक्षी
(ग) टूकन पक्षी
(घ) न्यूवर्ल्ड मंकी
उत्तर:
(ख) पैंग्विन पक्षी

II. रिक्त स्थान

निम्नलिखित वाक्यों में रिक्त स्थान भरिए
1. वर्षा को ………… यंत्र द्वारा मापा जाता है।
2. ध्रुवों पर ………… महीने तक सूर्यास्त नहीं होता है।
3. ध्रुवीय भालू की तरह…………भी अच्छे तैराक होते है।
4. ………… क्षेत्रों की जलवायु सामान्यतः गर्म होती है।
उत्तर:
1. वर्षा मापी,
2. छ:,
3. पेंग्विन
4: उष्ण कटिबन्धीय।

III. सुमेलन

कॉलम A तथा कॉलम B के शब्दों का मिलान कीजिए-

कॉलम A कॉलम B
1. त्वचा के भीतर वसा परत (a) बर्फ पर चलने हेतु
2. नखर युक्त पैर (b) शिकार को ढूँढ़ना
3. बालों का सफेद रंग (c) सदी से बचाव
4. तीव्र घ्राण शक्ति (d) शिकार की नजर से छिपना

उत्तर:

कॉलम A कॉलम B
1. त्वचा के भीतर वसा परत (a) बर्फ पर चलने हेतु
2. नखर युक्त पैर (b) शिकार को ढूँढ़ना
3. बालों का सफेद रंग (c) सदी से बचाव
4. तीव्र घ्राण शक्ति (d) शिकार की नजर से छिपना

HBSE 7th Class Science Solutions Chapter 7 मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल

IV. सत्य/असत्य

निम्नलिखित वाक्यों में से सत्य एवं असत्य कथन छाँटिए
1. ध्रुवों पर किसी भी प्रकार का कोई जीव नहीं पाया जाता
2. ध्रुवीय क्षेत्रों में छः महीने का दिन एवं छ: महीने की रात होती है।
3. सारस एवं कोयल प्रवासी पक्षी हैं।
4. हाथी केवल मरुस्थली क्षेत्रों में पाया जाता है।
उत्तर:
1. असत्य
2. सत्य
3. सत्य
4, असत्य।

अतिलघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
वर्षामापी क्या है?
उत्तर:
वर्षा मापने का यन्त्र वर्षामापी कहलाता है।

प्रश्न 2.
लाल नेत्र वाला मेढ़क कहाँ पाया जाता है ?
उत्तर:
वृक्षों पर।

प्रश्न 3.
वर्षा वन में पाये जाने वाले प्राणियों के नाम लिखिए।
उत्तर:
कपि (बन्दर), गुरिल्ला, शेर, चीता, तेंदुआ, सर्प आदि।

प्रश्न 4.
प्रचुर वर्षा वाले क्षेत्र के वनों को क्या कहते है?
उत्तर:
उष्ण कटिबन्धीय वर्षा वन।

प्रश्न 5.
भारतीय उष्ण कटिबन्धीय वर्षा वन के एक सामान्य जन्तु का नाम लिखिए।
उत्तर:
हाथी।

HBSE 7th Class Science Solutions Chapter 7 मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल

प्रश्न 6.
पेंग्विन कहाँ का प्रमुख पक्षी है ?
उत्तर:
पैग्विन ध्रुवीय क्षेत्र का प्रमुख पक्षी है।

प्रश्न 7.
किसी मरुस्थलीय जलवायु का प्रमुख लक्षण बताइए।
उत्तर:
यहाँ जलवायु गर्म और शुष्क होती है।

प्रश्न 8.
आपके क्षेत्र का कम से कम तथा अधिकतम तापमान कितना होता है? (क्रियाकलाप)
उत्तर:
सर्दियों में 5°C निम्नतम तथा गर्मियों में 45°C अधिकतम।

प्रश्न 9.
पेंग्विन का प्रमुख लक्षण जो इसे धुवीय प्रदेश में रहने के अनुकूल बनाता है, लिखिए।
उत्तर:
शरीर पर घने फरों का पाया जाना।

प्रश्न 10.
आर्द्र जलवायु क्या होती है ?
उत्तर:
वायु में अत्यधिक नमी का पाया जाना।

प्रश्न 11.
किसी प्रवासी पक्षी का नाम लिखिए।
उत्तर:
साइबेरियन क्रेन।

प्रश्न 12.
प्रवासी पक्षी प्रवास पर क्यों आते हैं ?
उत्तर:
प्रजनन के लिए तथा प्रतिकूल मौसम से बचने के लिए।

प्रश्न 13.
हाथी में वृक्षों की छाल छीलने के लिए क्या अनुकूलन होता है ?
उत्तर:
लम्बे व बाहर निकले रदनक दाँत।

HBSE 7th Class Science Solutions Chapter 7 मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल

लयु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
अखबारों में आने वाली दैनिक मौसम रिपोर्ट कहाँ से आती है?
उत्तर:
मौसम की रिपोर्ट भारत के मौसम विज्ञान विभाग द्वारा तैयार की जाती है। यह विभाग प्रतिदिन विभिन्न स्थानों से वहाँ के ताप, पवन वेग आदि पर आँकड़े एकत्रित करता है और मौसम के बारे में पूर्वानुमान लगाता है। यहाँ से ये रिपोर्ट अखबार में छापी जाती हैं।

प्रश्न 2.
“मौसम में होने वाले सभी परिवर्तन सूर्य के कारण होते हैं,” कैसे ? समझाइए।
उत्तर:
मौसम में सभी परिवर्तन सूर्य के कारण होते हैं। सूर्य अत्यधिक उच्च ताप पर गरम गैसों का गोला है। सूर्य की हमसे दूरी बहुत अधिक है परन्तु सूर्य से उत्सर्जित कर्जा इतनी अधिक है कि पृथ्वी से इतनी दूरी होने के बावजूद सूर्य हमारे लिए समस्त ऊष्मा और प्रकाश का स्रोत है। अत: सूर्य ऊर्जा का प्राथमिक स्रोत है जो मौसम में परिवर्तन लाता है। पृथ्वी के थल क्षेत्र, समुद्रों और वायुमण्डल द्वारा अवशोषित और परावर्तित की जाने वाली ऊर्जा भी किसी स्थान पर मौसम को निर्धारित करने में महत्वपूर्ण होती है।

प्रश्न 3.
पेंग्विन नामक पक्षी में ध्रुवीय क्षेत्रों में रहने के लिए क्या अनुकूलन पाये जाते हैं ?
उत्तर:
पैग्विन सफेद रंग के होते हैं और आसानी से बर्फ की सफेद पृष्ठभूमि में मिल जाते हैं जिससे ये शिकारियों से बचे रहते हैं। इनके शरीर में स्वयं को सर्दी से बचाने के लिए मोटी त्वचा और अत्यधिक वसा होती है। ये झुण्डों में रहते हैं जिससे भी ये गर्म बने रहते हैं। ये अच्छे तैराक होते हैं, इनके पैरों में तैरने के लिए जाल जैसी रचना पायी जाती है।

प्रश्न 4.
उष्ण कटिबन्धीय वर्षा वन किन देशों में पाये जाते हैं। उष्ण कटिबन्धीय वर्षा वनों के कुछ वन्य जन्तुओं के नाम लिखिए।
उत्तर:
उष्ण कटिबन्धीय वर्षा वन भारत, मलेशिया, इण्डोनेशिया, ब्राजील, कांगो गणतन्त्र, केन्या, युगान्डा और नाइजीरिया में पाये जाते हैं। उष्णकटिबन्धीय वर्षा वनों के वन्य जन्तुओं में-चीता, बारहसिंगा, शेर, हाथी, बन्दर, गिलहरी, सर्प, अजगर आदि सम्मिलित हैं।

HBSE 7th Class Science Solutions Chapter 7 मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल

प्रश्न 5.
प्रवास से आप क्या समझते हैं ? उदाहरण देकर समझाइए।
उत्तर:
जीवधारी अधिक प्रतिकूल मौसम में स्वयं को बचाने के लिए दूसरे स्थानों पर चले जाते हैं, इस परिघटना को प्रवास कहते हैं। अनेक मछलियाँ ठण्ड से बचने के लिए गर्म धाराओं में प्रवास करती हैं। उदाहरण के लिए, साइबेरियाई क्रेन जो साइबेरिया से राजस्थान में भरतपुर और हरियाणा में सुल्तानपुर जैसे स्थानों पर सर्दियों में प्रवास के लिए आते हैं।

प्रश्न 6.
वर्षा वनों में कुछ जीव वृक्षों पर रहते हैं। इनमें वृक्षों पर रहने के लिए क्या अनुकूलन पाये जाते हैं। दो उदाहरणों द्वारा समझाइए।।
उत्तर:
(1) लाल नेत्र वाले मेंढ़क के पैर के तलवे चिपचिपे होते हैं, जो उन्हें उन वृक्षों पर चढ़ने में सहायता करते हैं, जिन पर वे रहते हैं।
(2) वृक्षवासी बन्दरों की लम्बी पूँछ इन्हें वृक्षों पर रहने में सहायता करती है। यह शाखाओं को पकड़ने में सहायता करती है। इनके हाथ पैर ऐसे होते हैं जिससे ये आसानी से शाखाओं को थामे रहते हैं।

प्रश्न 7.
वर्षा वन में पाये जाने वाले किसी पक्षी में अनुकूलन बताइए।
उत्तर:
ट्रकन नामक पक्षी ऐसे वनों के लिए अनुकलित हैं। ये ऐसे स्थानों से भोजन प्राप्त कर सकते हैं जहाँ अन्य जन्तु नहीं पहुँचते। इनकी लम्बी चोंच ऐसी शाखाओं में लगे फलों तक पहुँचकर फल खा सकती है जो बहुत कमजोर होती हैं।

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
अधिकतम तापमान में परिवर्तन के लिए एक ग्राफ बनाइए।
उत्तर:
नीचे दिये गये चित्र में 3 अगस्त, 2011 से 9 अगस्त, 2011 तक शिलांग, मेघालय में रिकॉर्ड किये गये अधिकतम तापमान को दिखाया गया है-
HBSE 7th Class Science Solutions Chapter 7 मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल -1

HBSE 7th Class Science Solutions Chapter 7 मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल

प्रश्न 2.
श्रीनगर और तिरुअनंतपुरम भारतवर्ष के दो विपरीत छोरों के क्षेत्र हैं, इनकी जलवायु में अन्तर के लिए सारणी बनाइए।
उत्तर:
श्रीनगर (जम्मू और कश्मीर) तथा तिरुअनंतपुरम (केरल) की जलवायु में तुलना

प्रश्न 3.
प्रवासी पक्षी प्रवास क्यों और कैसे करते हैं ? समझाइए।
उत्तर:
कुछ प्रवासी पक्षी अपने आवास की चरम जलवायवीय परिस्थितियों से बचने के लिए 15000 किमी तक की यात्रा करते हैं। सामान्यतः ये अधिक ऊँचाई पर उड़ान भरते हैं, जहाँ वायु प्रवाह उड़ान में सहायक होता है। इस ऊँचाई की शीत स्थितियों उनकी उड़ानपेशियों द्वारा उत्पन्न ऊष्मा का विपरंण आसान कर देती हैं। लेकिन आश्चर्य की बात है कि प्रवासी पक्षी वर्ष दर वर्ष एक ही स्थान पर कैसे आते रहते हैं यह एक रहस्य है। ऐसा लगता है कि इन पक्षियों में दिशा का सहज बोध होता है और ये जानते हैं कि किस दिशा में उड़ना है। मार्गदर्शन के लिए सम्भवत: कुछ भूचिन्हों (लैंडमार्क) का उपयोग करते हैं। संभवतः अनेक पक्षियों को दिन में सूर्य और रात्रि में तारों से मार्गदर्शन मिलता है। इसके भी कुछ प्रमाण हैं कि पक्षी दिशा का पता लगाने के लिए पृथ्वी के चुम्बकीय क्षेत्र का उपयोग करते हैं। केवल पक्षी ही ऐसे जन्तु नहीं, जो प्रवास करते हैं। अनेक स्तनधारी जीव, अनेक प्रकार की मछलियाँ और कीट भी अधिक अनुकूल जलवायु की तलाश के लिए मौसमी रूप से प्रवास करते हैं।

HBSE 7th Class Science Solutions Chapter 7 मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल

मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूल Class 7  HBSE Notes in Hindi

→ किसी स्थान पर तापमान, आर्द्रता, वर्षा, पवन वेग आदि के सम्बन्ध में वायुमण्डल की दिन-प्रतिदिन की स्थिति उस स्थान का मौसम कहलाती है।
→ दिन का अधिकतम तापमान सामान्यतः अपराह्न (दोपहर बाद) में जबकि न्यूनतम तापमान प्रातः (भोर) में होता है।
→ वर्ष भर सूर्योदय और सूर्यास्त का समय भी परिवर्तित होता रहता है। .मौसम के सभी परिवर्तन सूर्य से संचालित होते हैं।
→ दीर्घ अवधि, जैसे 25 वर्ष में लिये गये मौसम के प्राचलों के आधार पर तैयार किये गये प्रतिरूप (पैटर्न), उस स्थान की जलवायु निर्धारित करते हैं।
→ जलवायु का सभी जीवों पर गहरा प्रभाव पड़ता है। जन्तु उन परिस्थितियों के लिए अनुकूलित होते हैं जिनमें वह वास करते हैं।
→ ध्रुवीय क्षेत्रों में चरम जलवायु पायी जाती है। ये क्षेत्र सदैव बर्फ से ढके रहते हैं और यहाँ वर्ष के अधिकांश भाग में अत्यधिक सर्दी रहती है।
→ ध्रुवीय क्षेत्रों में वर्षभर बहुत सर्दी रहती है। ध्रुवों में वर्ष के छः महीने तक सूर्यास्त नहीं होता है और शेष छ: महीने सूर्योदय नहीं होता है।
→ ध्रुवीय भालू और पैंग्विन ध्रुवीय क्षेत्रों में रहने के लिए अनुकूलित होते हैं। इनकी त्वचा के नीचे स्थित वसा की परत तथा त्वचा के ऊपर बाल या फर सर्दी से इनकी सुरक्षा करते हैं।
→ अतिशीत मौसम से बचने के लिए प्रवास एक अन्य साधन है।
→ अनुकूल जलवायवी परिस्थितियों के कारण उष्ण कटिबन्धीय वर्षा वनों में पादपों और जन्तुओं की विशाल जनसंख्या – पायी जाती है।
→ उष्ण कटिबन्धीय वर्षा वनों में जन्तु इस प्रकार अनुकूलित होते हैं कि उन्हें अन्य प्रकार के जन्तुओं से भिन्न भोजन एवं आश्रय की आवश्यकता होती है। ताकि उनमें परस्पर स्पर्धा कम से कम हो।
→ मौसम – किसी स्थान पर, तापमान, आर्द्रता, बर्फ, वायु वेग आदि के सन्दर्भ में वायुमण्डल की प्रतिदिन की परिस्थिति उस स्थान का मौसम कहलाती है।
→ मौसम के घटक – तापमान, वर्षा, प्रकाश, आर्द्रता, वायु आदि।
→ आर्द्रता – वायु में जलवाष्प के रूप में उपस्थित नमी।
→ अधिकतम तापमान – दोपहर के बाद मापा गया तापमान।
→ न्यूनतम तापमान – प्रातः के समय मापा गया तापमान।
→ धुवीय क्षेत्र – पृथ्वी के ध्रुव/यहाँ जलवायु की चरम स्थितियाँ होती है।
→ जलवायु – दीर्घ अवधि में लिया गया मौसम का प्रारूप ही उस स्थान की जलवायु कहलाता है।
→ अनुकूलन – वे सभी गुण तथा लक्षण जो जन्तुओं को उनके आवास एवं परिवेश में सही ढंग से रहने योग्य बनाते हैं, अनुकूलन कहलाते हैं।
→ उष्ण कटिबन्धीय क्षेत्र – पृथ्वी के वह स्थान जहाँ गर्म एवं नम जलवायु होती हैं।
→ उष्ण कटिबन्धीय वर्षा वन – वर्षा की अधिकता वाले क्षेत्र में पाए जाने वाले वन।
→ प्रवास – किसी जीव का एक क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र में जाना।

Leave a Comment

Your email address will not be published.